Buy & Sell Shares: How to do Share Trading Online In India

how to buy and sell shares online in India

How To Buy And Sell Shares Online In India

Buy Sell Shares India: भारत में, लोग शेयरों या इक्विटी में निवेश करने से हमेशा हिचकिचाते हैं। आप में से कई लोग सोना, चांदी या जमीन खरीदना पसंद करते हैं क्योंकि इनमे हमेशा भविष्य में आपकी इन्वेस्मेंट पर वृद्धि होगी। आपको यह जानना होगा कि डीमैट के माध्यम से शेयर कैसे खरीदें। आप उचित स्तर पर शेयर खरीद और बेच सकते हैं। आप शुरुआती दिनों में ट्रेडिंग करने में मदद करने के लिए एक ब्रोकर को स्रोत कर सकते हैं। एक बार जब आप शेयर खरीदने और बेचने में पूर्ण विशेषज्ञ बन जाते हैं, तो आप अपने दम पर शेयर बाजार में ट्रेडिंग की कोशिश कर सकते हैं।

ट्रेडिंग शुरू करने के लिए, आपको मोतीलाल ओसवाल जैसे प्रमुख स्टॉक ब्रोकर्स के साथ उपलब्ध डीमैट और ट्रेडिंग खाते की आवश्यकता होती है।

डीमैट खाता एक साधारण स्टोरेज के रूप में कार्य करता है, जो आपको खरीदे गए शेयरों को स्टोर करने की अनुमति देता है, जबकि ट्रेडिंग खाता वास्तविक खरीद और बिक्री की सुविधा देता है।

ये 5 चरण हैं जो आप ऑनलाइन शेयर खरीद सकते हैं।

  • Get a PAN card: Beginners Guide to Stock Market India
  • Open an Operative Demat Account
  • Get yourself a broker
  • Depository Participant or DP
  • Buy and Sell Shares

Get a PAN card: Beginners Guide to Stock Market India

डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट के लिए आपको सबसे पहले पैन कार्ड की आवश्यकता है। Full Form of PAN is Permanent Account Number. हमारे देश में किसी भी प्रकार के वित्तीय लेनदेन में प्रवेश के लिए पैन नंबर होना सबसे जरुरी और बुनियादी आवश्यकता है। यह 10 अंकों का अल्फा न्यूमेरिक नंबर और सरकार द्वारा जारी वैध आईडी प्रूफ है। कर अधिकारी (Tax Authorities) किसी के कर देनदारियों का आकलन करने के लिए पैन कार्ड का उपयोग करते हैं।

Open an Operative Demat Account

शेयरों को खरीदने और बेचने की आसान लेनदेन की सुविधा के लिए, आपको एक वैध डीमैट खाता खोलने की आवश्यकता है।  इसके लिए आपको अपने आवश्यक दस्तावेजों को सत्यापित (Self Attested) करके अपने ब्रोकर (जिस ब्रोकरेज कंपनी से आप लेन-देन करना चाहते हैं) के अधिकृत व्यक्ति को देना होगा या आप डीमैट फॉर्म ऑनलाइन भी भर सकते है। दस्तावेजों का सत्यापन हो जाने के बाद, आपका डीमैट खाता खोल दिया जाएगा। आप स्टॉक, शेयर और डेरिवेटिव खरीदने और बेचने के लिए खाते का उपयोग कर सकते हैं। आपका डीमैट खाता आपके स्टॉक पोर्टफोलियो का स्टोरेज होता है।

Get yourself a broker to Buy Sell Shares in India

यदि आप ब्रोकर के कार्यालय में जाते हैं और सीधे स्टॉक या शेयरों में खरीदी और बिकवाली करते हैं, तो आपके पास सलाहकार होना सुनिश्चित है जो शेयर ट्रेडिंग के मुद्दों पर आपको दिन भर मार्गदर्शन करेगा। ये व्यक्ति सेबी बोर्ड (भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड) द्वारा प्रमाणित होते हैं। और ब्रोकर के रूप में कार्य करने के लिए इनके पास लाइसेंस होता है।

दूसरे शब्दों में, एक ब्रोकर एक स्वतंत्र स्टॉक ट्रेडर और स्टॉक ब्रोकिंग फर्म के बीच एक मध्यस्थ है। वह व्यापारियों को शेयर खरीदने और बेचने में मदद करने के लिए कमीशन के रूप में एक छोटी राशि वसूलता है। ब्रोकर कंपनियां या ऑनलाइन एजेंसियां सेबी या एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया द्वारा स्टॉक मार्केट को विनियमित करने के लिए पंजीकृत या लाइसेंस प्राप्त होती हैं।

Depository Participant or DP

भारत में दो प्रकार के डिपॉजिटरी प्रतिभागी हैं। वे NSDL – National Securities Depository Limited और CSDL – Central Securities Depository Limited हैं। डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट्स आपके द्वारा खरीदे किए गए शेयरों को स्टोर करने में मदद करते है। वे आपको एक विशिष्ट खाता संख्या (unique account Number) देते हैं, जिसे unique identification Number (UIN) कहा जाता है।

यूआईएन को एक विशिष्ट पहचान संख्या कहा जाता है। यूआईएन उन निवेशकों के लिए अनिवार्य है जो 1, 00, 000 और ऊपर की पूंजी के साथ व्यापार कर रहे हैं। सामान्य या कम महत्वपूर्ण निवेशकों को यूआईएन की आवश्यकता नहीं है।

Buy and Sell Shares in India

इस तरह आप शेयरों की खरीद-फरोख्त में लिप्त हो जाते हैं। मान लीजिए कि आप 885 रुपये में रिलायंस इंडस्ट्रीज का हिस्सा खरीदना चाहते हैं, तो आप अपने ब्रोकर को इसके अनुसार सूचित कर सकते हैं। 885 रुपये में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड खरीदें। मात्रा: १०। भले ही आप ऑनलाइन काम कर रहे हों, लेकिन उस विशेष समय पर आपके पास इंटरनेट सुविधा उपलब्ध न हो तो आप टोल फ्री नंबर या कस्टमर केयर नंबर डायल करके ब्रोकर से संपर्क कर सकते हैं।  यदि आप 895 रुपए में रिलायंस शेयर बेचना चाहते हैं, तो भी आप ऊपर बताये हुए स्टेप्स की तरह ऑनलाइन या अपने ब्रोकर को फ़ोन करके बेचने के लिए कह सकते है। रिलायंस शेयर लिमिटेड, मात्रा: 3 को बेचे।

जब शेयर उस मूल्य पर पहुंच जाएगा तो आपके द्वारा दिए गए बिक्री आदेश (Sell Order) पर कार्रवाई हो जाएगी।  यदि आप बाजार में उतार-चढ़ाव के कारण किसी विशेष लेनदेन को फ्रीज करना चाहते हैं, तो आप स्टॉप ऑर्डर ट्रांजेक्शन को भी अंजाम दे सकते है।

Contact to Open Trading and Demat Account with Motilal Oswal

Also Read:

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply